MCB in Hindi - एमसीबी क्या है इन हिंदी। 

नमस्कार दोस्तों आज की पोस्ट में हम बात करने वाले हैं। MCB in hindi - mcb kay hoti hai in hindi उसका निर्माण प्रकार संचालन एप्लीकेशन फायदे mcb full form और बहुत कुछ तो चलिए दोस्तों आज के आर्टिकल की शुरुआत करते हैं।


MCB kay hoti hai in hindi:

MCB का फुल फॉर्म (mcb full formminiature circuit breaker है जो कि एक प्रोटेक्टिव डिवाइस है और प्रोटेक्शन प्रदान करने का काम करती है। एमसीबी को इलेक्ट्रो मैकेनिकल डिवाइस का भी नाम हासिल है। सर्किट में फॉल्ट हो जाने पर एमसीबी ऑटोमेटिक ऑपरेट हो कर सर्किट को ट्रिप कर देता है यानी बंदकर देता है।


MCB को हम फ्यूज के जगह पर भी इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि यह फ्यूज से ज्यादा प्रोटेक्टिव होती है। एमसीबी मैकेनिकल और इलेक्ट्रिकल दोनों वर्किंग करती है। 


एमसीबी ओवरलोड और शॉर्ट सर्किट दोनों में प्रोटेक्शन प्रोवाइड करती है और फ्यूज सिर्फ शॉर्ट सर्किट प्रोटेक्शन प्रोवाइड करता है। वह पूरी तरह से इंसुलेटेड होती है इसके वजह से करंट लगनेे का खतरा नहीं रहता है।


MCB kay hai in hindi - mcb in hindi

एमसीबी का निर्माण:

एमसीबी के निर्माण में उसके अंदर मैग्नेटिक एलिमेंट बाय मेटल एलिमेंट ट्रिप बार कांटेक्ट मेटल वायर और इनपुट टर्मिनल लोड टर्मिनल रहता है।


एमसीबी के मुख्य एलिमेंट:

  • मैग्नेटिक एलिमेंट.
  • बाय मेटल एलिमेंट.
  • ट्रिप बार.
  • कांटेक्ट 
  • ऑपरेटिंग नोब.
  • बॉडी.
  • इंसुलेशन कवर. 

एमसीबी के कार्यों (function of MCB):

  • 4% से  लेकर 25% के ओवरलोड पर संचालित होता है। 
  • faulty सर्किट का नोब के माध्यम से डायरेक्शन देखा जाता है।
  • छोटे से छोटे ओवरलोड करंट में ब्रेक होता है।
  • बिना किसी उपकरण के इसे सर्किट में डायरेक्टली जोड़ा जा सकता है। 

एमसीबी की संचालन प्रक्रिया:

एमसीबी के संचालन की दो प्रक्रिया है जो कि निम्नलिखित है।
  • थर्मल ऑपरेशन.
  • हैमर ट्रिप ऑपरेशन.

एमसीबी high current ttrippingकरने वाला डिवाइस है जो की मैग्नेटिकली current को ट्रिप करता है। 


1). थर्मल ऑपरेशन:

थर्मल ऑपरेशन में बाय मैटेलिक पट्टी ओवरलोड करंट या fault हो जाने पर गरम होकर latch mechanism से move होती है। इसकी वजह से सर्किट ट्रिप हो जाता है। वहां पर वह पट्टी heating के माध्यम से थर्मल ऑपरेशन परफॉर्म करती है।


2). हैमर ट्रिप ऑपरेशन:

जब सर्किट में शॉर्ट सर्किट या फॉल्ट होता है तब solenoid coil को सक्रिय किया जाता है इसकी वजह से बहुत सारी मैग्नेटिक फील्ड तैयार होकर plunger संचालित होता है और वह कांटेक्ट खोलने के लिएatch system को release कर देता है और ट्रिपिंग लीवर को आगे धकेल देता है। 


इसके वजह से  एमसीबी  ट्रिप हो जाती है यह शॉर्ट सर्किट प्रोटेक्शन के लिए मैग्नेटिक ऑपरेशन की सहायता करता है। 


एमसीबी के प्रकार:

एमसीबी मुख्य रूप से सात प्रकार की होती है जो कि निम्नलिखित है।
  1. दो पोल वाली एमसीबी. 
  2. फोर पोल वाली एमसीबी. 
  3. बी -  प्रकार की एमसीबी. 
  4. सी - प्रकार की एमसीबी
  5. डी - प्रकार की एमसीबी
  6. के - प्रकार की एमसीबी
  7. झेड - प्रकार की एमसीबी

दो पोल वाली एमसीबी:

double पोल एमसीबी में एक वायर phase का और दूसरा वायर न्यूट्रल का रहता है। इसे मुख्य रूप से सिंगल फेज लाइन में इस्तेमाल किया जाता है। यह ज्यादातर घरों में ही इस्तेमाल की गई दिखेगी।

Double pole MCB

फोर पोल वाली एमसीबी:

four पोल एमसीबी में तीन वायर phase के और एक वायर न्यूट्रल का रहता है। इसे मुख्य रूप से तीन फेज लाइन में इस्तेमाल किया जाता है। यह ज्यादातर इंडस्ट्रीज घरों औरlighting system मैं इस्तेमाल किया जाता है। 

बी - प्रकार की एमसीबी:

बी - प्रकार की एमसीबी की क्षमता अगर ५ Amp से लेकर लगभग १५ Amp तक की करंट प्रवाहीत करने की है अगर करंट १५ Amp से ज्यादा हो गया तो वह एमसीबी ट्रिप हो जाएगी। और ज्यादा करंट प्रवाहित हो जाने की वजह से एमसीबी का नुकसान भी हो सकता है।


सी - प्रकार की एमसीबी:

सी - प्रकार की एमसीबी की क्षमता अगर १० Amp से लेकर लगभग ५० Amp तक की करंट प्रवाहीत करने की है अगर करंट ५० Amp से ज्यादा हो गया तो वह एमसीबी ट्रिप हो जाएगी। 


डी - प्रकार की एमसीबी:

डी - प्रकार की एमसीबी की क्षमता अगर २० Amp से लेकर लगभग ७० Amp तक की करंट प्रवाहीत करने की है अगर करंट १०० Amp से ज्यादा हो गया तो वह एमसीबी ट्रिप हो जाएगी। और ज्यादा करंट प्रवाहित हो जाने की वजह से एमसीबी और डिव्हाइस का नुकसान भी हो सकता है।


के  - प्रकार की एमसीबी:

के - प्रकार की एमसीबी की क्षमता अगर १ Amp से लेकर लगभग १० Amp तक की करंट प्रवाहीत करने की है अगर करंट १५ Amp से ज्यादा हो गया तो वह एमसीबी ट्रिप होगी और १५ Amp से ज्यादा करंट प्रवाहित हो जाने की वजह से एमसीबी का नुकसान भी हो सकता है।


झेड  - प्रकार की एमसीबी:

झेड - प्रकार की एमसीबी की क्षमता अगर १०० Amp से लेकर लगभग १५० Amp तक की करंट प्रवाहीत करने की है अगर करंट १५० Amp से ज्यादा हो गया तो एमसीबी ट्रिप हो जाएगी। और ज्यादा करंट प्रवाहित होने की वजह से एमसीबी का नुकसान भी हो सकता है।

एमसीबी के फायदे:

  • यह कम से कम समय में संचालित होती है। 
  • फ्यूज से बेहतरीन प्रोटेक्शन देता है।
  • फॉल्ट होने के बाद एमसीबी को ठीक कर के मैन्युअल रूप से संचालित किया जा सकता है।
  • इसके मेंटेनेंस में कोई भी ज्यादा खर्चा नहीं लगता है।
  • longer life. 

एमसीबी के नुकसान:

  • डिवाइस का नुकसान हो जाने पर पूरा का पूरा यूनिट बदलने की आवश्यकता।

एमसीबी क्यों यूज़ करनी चाहिए?

एमसीबी हमें इक्विपमेंट प्रोटेक्शन और खुद के प्रोटेक्शन के लिए यूज़ करनी चाहिए क्योंकि एमसीबी यूज करने के बाद हमें करंट भी लग जाता है तो एमसीबी अपने आप ट्रिप हो जाएगी और हमें करंट से बचा लेगी।


एमसीबी के अनुप्रयोग (Application):

एमसीबी 2 सीरीज की होती है जो कि निम्न निम्नलिखित लिखित है। 
  • Home equipment protection. 
  • इंडस्ट्रीज। 
  • सोलर पावर सिस्टम। 
  • ऑफिसेज। 
  • डिस्ट्रीब्यूशन बोर्ड। 
  • शॉप। 

conclusion दोस्तों आपको MCB in Hindi- mcb kay hai in Hindi उसका इस्तेमाल संचालन फायदे नुकसान और अन्य जानकारी आपको अच्छी लगी होगी। दोस्तों इस आर्टिकल को शेयर करें। और हां कमेंट भी करना ना भूले।